कैसे कह दूं….!!!

कैसे कह दूं कि तेरी याद नही आती है,

मेरी हर सांस मे बस तू ही महकाती है.

आज भी रातों को जब चौंक के उठता हूँ,

बस तू ही नही, हर शह तो नज़र आती है..!

– गौरव संगतानी 

7 Comments

  1. भाव और विचार के श्रेष्ठ समन्वय से अभिव्यक्ति प्रखर हो गई है । विषय का विवेचन अच्छा किया है । भाषिक पक्ष भी बेहतर है । बहुत अच्छा लिखा है आपने ।
    मैने अपने ब्लाग पर एक लेख लिखा है-आत्मविश्वास के सहारे जीतें जिंदगी की जंग-समय हो तो पढें और कमेंट भी दें-

    http://www.ashokvichar.blogspot.com

    Like

  2. paramjitbali says:

    बहुत बढिया!!

    Like

  3. अशोक जी धन्यवाद आपके कॉमेंट और उत्साह वर्धन के लिए…. आपका ब्लॉग भी पड़ा… काफ़ी अच्छा लगा…

    परम जीत जी आपका भी धन्यवाद…. इसी तरह आपका स्नेह मिलता रहे…

    Like

  4. बहुत सुंदर….

    Like

  5. Good one Gaurav…
    Keep writing…

    Kabhi yahan bhi aaiyega…

    http://tanhaaiyan.blogspot.com

    Like

  6. ankurgarg says:

    Nice Boss
    Kaun है wo jo रातों को pareshan kar rahi है……….

    Like

Leave a Reply to Yogesh Gandhi Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s